प्रेमचंद्र हिन्दी

Hindi Literature

प्रेमचंद्र हिन्दी के प्रथम मौलिक उपन्यासकार तथा हिन्दी उपन्यास साहित्य के केन्द्र बिन्दु हैं, विवेचना।

प्रेमचन्द की गणना हिन्दी के मौलिक साहित्यकार के रूप में की जाती है। उन्होंने हिन्दी कहानी और उपन्यास के क्षेत्र

Scroll to Top