संस्कृति की विशेषता लिखिए।

0
49

संस्कृति की विशेषता संस्कृति को प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित है:

  1. संस्कृति केवल मानव समाज में पायी जाती है। मनुष्य नामक प्राणी में ही कतिपय ऐसी शारीरिक-मानसिक क्षमताएं/विशेषताएं होती है, जिसके कारण वह संस्कृति का निर्माण और विकास करता है, जबकि अन्यान्य प्राणी नहीं कर पाते। मनुष्य का विकास मस्तिष्क, केंद्रित किये जा सकने वाले नेत्र, स्वतंत्रतापूर्वक घूम सकने वाले हाथ और उनमें अंगूठे की स्थिति, गर्दन की रचना आदि मनुष्य को अन्य जीवों से भिन्न बनाती है। इसलिए संस्कृति मानव निर्मित है।
  2. संस्कृति सीखी जाती है, यह मनुष्य को वंशानुक्रम के द्वारा नहीं प्राप्त होती, इसे सीखना पड़ता है। संस्कृति मानव के सीधे हुए व्यवहार प्रतिमानों का योग है। व्यक्ति जिस समाज में पैदा होता है, उसकी संस्कृति को धीरे-धीरे समाजीकरण की प्रक्रिया के द्वारा सीखता है।
  3. संस्कृति किसी व्यक्ति विशेष की नहीं, बल्कि सम्पूर्ण समाज की देन होती है, क्योंकि संस्कृति का विकास समाज के कारण ही होता है। समाज की अनुपस्थिति में संस्कृति का प्रश्न ही नहीं उठता। संस्कृति कुछ सदस्यों का नही, समाज या समूह के अधिकांश लोगों का प्रतिनिधित्व करती है। यह सामूहिक आदतों, व्यवहारों तथा अनुभवों की देन है। स्पष्ट है कि संस्कृति में सामाजिक गुण निहित होता है।
  4. मानव की अनेकोनेक शारीरिक, मानसिक एवं सामाजिक आवश्यकताएं होती हैं। इनकी पूर्ति हेतु ही संस्कृति का निर्माण हुआ है। अतः संस्कृति मानीवय आवश्यताओं की पूर्ति करती है।

राधाकृष्णन आयोग (1949) की मुख्य सिफारिशों पर प्रकाश डालिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here