पुनर्जागरण का अर्थ स्पष्ट कीजिए।

0
39

पुनर्जागरण का अर्थ – पुनर्जागरण शब्द से तात्पर्य है पुनर्जन्म या फिर से जागना। इस संदर्भ में मध्यकालीन पुनर्जागरण का अर्थ है, समाप्त प्रायः अवशेषों का पुनरुद्धार नवोस्थान नवचेतना कला और ज्ञान का पुनर्जन्म यूरोप के इतिहास में व्यापक तौर से पुनर्जागरण का तात्पर्य मध्य युग से आधुनिक युग को प्रारम्भ करने वाले उन सब परिवर्तनों से है, जिनके द्वारा, सामन्तवाद का पतन प्राचीन साहित्य का अध्ययन बारूद एवं कुतुबनुमा का आविष्कार, छापेखाने की शुरूआत नये व्यापारिक मार्गों की खोज नये देशों एवं अमेरिका की खोज, प्रारम्भिक पूंजीवाद का आरम्भ आदि हुए। सीमांत रूप से पुनर्जागरण का अभिप्राय उन विशेष सांस्कृतिक परिवर्तनों से है, जो कि 13 वीं शताब्दी से 16वीं शताब्दी के दौरान हुए रेनास (पुनर्जागरण) का प्रयोग इतिहासकार 14वीं शताब्दी में हुए इटली की कला और जागरण के संदर्भ में करते हैं।

धर्मपाल की पराजया

इस प्रकार यूरोप के सांस्कृतिक इतिहास में 15 वीं व 16वीं शताब्दियों में एक नवीन युग का सूत्रपात हुआ, जिसे विद्वानों ने पुनर्जागरण काल की संज्ञा दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here