पर्यावरण शिक्षा का क्या अर्थ है ?

0
36

पर्यावरण शिक्षा का अर्थ

पर्यावरण शिक्षा का अर्थ -मुख्य रूप से हम कह सकते हैं कि पर्यावरण शिक्षा की अवधारण के आधार पर ‘पर्यावरण शिक्षा’ की परिभाषा को यद्यपि एक सही दिशा मिली है और इसकी सीमाओं को काफी सीमित कर दिया गया है परन्तु जैसे पर्यावरण के क्षेत्र का विस्तार विचारकों की निगाह में आ रहा है इसलिए वह जीवन और जीवन पद्धति के हर पहलू के मानय के करीब से जोड़ने लगे हैं उसी प्रकार पर्यावरण शिक्षा की नई-नई परिभाषाएं मिलने लगी हैं। जो निम्न है

तथ्य ( Facts) और अभिवृत्ति (Atitudes) के आधार पर जो परिभाषा IUCN की सेमीनार में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर दी गयी और जिसे व्यापक तौर पर पूरे विश्व में स्वीकार किया गया। वह निम्न प्रकार है-“पर्यावरण शिक्षा” दायित्वों को जानने तथा विचारों को स्पष्ट करने की यह प्रक्रिया है जिससे मनुष्य अपनी संस्कृति और जैव-भौतिक परिवेश के मध्य अपने आपकी सम्बद्धता को पहचानने और समझने के लिए आवश्यक कौशल तथा अभिवृत्ति का विकास कर सके पर्यावरण शिक्षा, पर्यावरण की गुणवत्ता से संबंधित प्रकरणों के लिए व्यावहारिक संहिता निर्माण करने तथा निर्णय लेने की आदत को भी व्यवस्थित करती है। (IUCN 1970)

इसी प्रकार की परिभाषा को अत्यंत सहजता से अग्र प्रकार प्रस्तुत किया है जिसमें समुदाय को यह उत्तरदायित्व देने का प्रयास किया गया है कि वह समस्याओं को समझ कर उनको व्यक्तिगत अथवा सामाजिक हल खोज सकें। साथ ही यह भी अपेक्षा की गयी है कि भविष्य में इन समस्याओं की पुनरावृत्ति नहीं होने पाये।

“पर्यावरण शिक्षा’ वस्तुतः विश्व समुदाय को पर्यावरण संबंधी दी जाने वाली वह शिक्षा है। जिससे वे समस्याओं से अवगत होकर उनका हल खोज सकें और साथ ही भविष्य में आ सकने वाली समस्याओं को रोक सके।

‘यूनेस्को’ के लिए ‘फिनिश नेशनल कमीशन’ ने अपनी पर्यावरण शिक्षा की सेमीनार रिपोर्ट में निम्न परिभाषा दी है

“पर्यावरण शिक्षा” पर्यावरण सुरक्षा के उद्देश्यों को प्राप्त करने का साधन है। पर्यावरण शिक्षा किसी विज्ञान अथवा विषय के अध्ययन की अलग शाखा नहीं है। इसे जीवनपर्यन्त सम्पूर्ण शिक्षा के अंतर्गत चलाया जाना चाहिए।”

काका कालेलकर आयोग क्या है?

जर्मन के रेनहाल्ड ई. स्लीव ने पर्यावरण शिक्षा को अपने औद्योगिक क्रान्ति वाले देश के संदर्भ में अग्र प्रकार परिभाषित करने का प्रयास किया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here