मैकाले द्वारा प्रतिपादित निष्पन्दन सिद्धान्त को गवर्नर जनरल ऑकलैण्ड ने किस आधार पर स्वीकृति प्रदान की

मैकाले द्वारा प्रतिपादित निष्पन्दन सिद्धान्त – 2 फरवरी, 1835 ई. को गवर्नर जनरल कॉसिल के समक्ष प्रस्तुत किये गये अपने विवरण में लॉर्ड मैकाले ने इस सिद्धान्त को प्रस्तुत करते हुए लिखा “हमें इस समय एक ऐसे वर्ग का निर्माण करने की भरसक चेष्टा करनी चाहिए जो हमारे और उन लाखों व्यक्तियों के मध्य, जिन पर हम शासन करते हैं, दुभाषिये का कार्य करें। हमें इसी वर्ग (क्लर्क) पर देश की भाषाओं को निश्चित करने का कार्य छोड़ देना चाहिए।”

निर्देशन का अर्थ ‘आत्म निर्देशन’ है। आलोचना कीजिए ।

अन्त में ऑकलैण्ड ने इस सिद्धान्त को स्वीकृति प्रदान करते हुए लिखा है-“सरकार को समाज के उच्च वर्गों में उच्च शिक्षा का प्रसार करना चाहिए जिसके पास अध्ययन के लिए समय है और जिसकी संस्कृति जनता में छन-छनकर पहुंचेगी।”

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top