माण्टेसरी विद्यालय पर टिप्पणी लिखिए।

3 से 7 वर्ष तक के बालक माण्टेसरी विद्यालय में शिक्षा ग्रहण करते हैं। यहाँ बालकों को खेल द्वारा शिक्षा दी जाती है। अतएव खेल के लिए विद्यालय में काफी बड़ा मैदान होता है जिसमें बालक खुले वातावरण में खेल सकते हैं। यहाँ बच्चों के बैठने के लिए छोटी छोटी कुर्सियाँ तथा मेजें होती हैं। जिन पर बालक बैठकर कभी-कभी खेल भी खेलते हैं। यहाँ मैदान में कुछ कम्बल बिछा दिये जाते हैं। जिन पर बैठकर बालक खेलते हैं। बालकों को चाय पीने के लिए छोटे-छोटे कप तथा प्लेटें होती हैं। बच्चे ‘टी पॉट’ से चाय परोसते हैं और इतनी सावधानी बरतते हैं कि जरा भी चाय नहीं गिरती है। कोई खाद्य या पेय पदार्थ मेजपोश पर भी नहीं गिरता है। माण्टेसरी विद्यालय में एक बड़ा कमरा और कई छोटे-छोटे कमरे होते हैं। बड़े कमरे में पढ़ाई होती है और छोटे कमरों में खाना बनाना, व्यायाम आदि होते हैं।

शिक्षा के डाल्टन योजना की विवेचना कीजिए।

विद्यालय में सभी समान बच्चों की सुविधा के अनुसार एकत्र किया जाता है। सभी चीजें छोटी-छोटी रहती है ताकि बच्चे इधर-उधर सामान को उठाकर ले जा सके। बड़े कमरे में कई छोटे सन्दूक होते हैं। जिनमें शिक्षा के उपकरण रखे होते हैं। छात्र श्यामपट्ट पर चित्र भी बनाया करते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top