जेम्स द्वितीय की धार्मिक नीति पर प्रकाश डालिये।

0
65

जेम्स द्वितीय की धार्मिक नीति – जेम्स द्वितीय इंग्लैण्ड का शासक था। वह बहुत ही निरंकुश और अत्याचारी शासक था। वह अपनी अत्याचारी एवं निरंकुश नीति से जनता में भय एवं आतंक उत्पन्न करना चाहता था ताकि वह स्वेच्छाचारिता से शासन कर सके। उसकी धार्मिक नीति भी असहिष्णुता पर आधारित थी। जेम्स द्वितीय कैथोलिक था तथा इंग्लैण्ड की अधिकांश जनता प्रोटेस्टेण्ट थी। जेम्स कैथोलिक धर्म का इंग्लैण्ड में प्रचार करना चाहता था, इसी उद्देश्य से जेम्स ने लंदन में एक नशीन गिरजाघर बनवाया जिसका जनता ने घोर किया।

सिकन्दर लोदी की धार्मिक नीति का संक्षिप्त विवरण दीजिए।

जेम्स ने अवसर पाकर अपनी सेना में वृद्धि की, ताकि जनता को आतंकित कर सके। जेम्स की सेना में अधिकाश कैथोलिक थे। इंग्लैण्ड की जनता को स्पष्ट प्रतीत होने लगा कि इंग्लैण्ड में पुनः सैनिक शासन स्थापित होगा। जनता इंग्लैण्ड में पुनः सैनिक शासन की स्थापना नहीं चाहती थी क्योंकि क्रामवेल के सैनिक शासन से ही जनता तंग आ चुकी थी। अतः जेम्स की निरंकुश नीति का जनता द्वारा विरोध होना स्वाभाविक था। इंग्लैण्ड की जनता ने जेम्स द्वितीय की धार्मिक नीति का जोरदार विरोध किया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here