जीन बोदों का जीवन परिचय लिखिए।

0
273

जीन बोदों का जीवन परिचय – जीन बोदा एक फ्रांसीसी दार्शनिक था जिसका जन्म 1530 ई. में हुआ था। उसके समय में फ्रांस गृह कलह और धर्मयुद्धों की आग में जल रहा था। इसका मुख्य कारण धर्मसुधार आन्दोलन द्वारा डाला गया प्रभाव था। धर्म के नाम पर हिंसा और दमन के इस नग्न ताण्डव ने फ्रांस में दो प्रकार की राजनीतिक विचारधाराओं में विश्वास रखने वाले लोगों को जन्म दिया। इनमें से प्रथम ‘मोनार्कोमैक्स’ और दूसरे ‘पोलीटिकोज’ के नाम से जाने जाते थे। मोनाकोमैक्स प्रोटेस्टैण्ट थे तथा उनका उद्देश्य फ्रांस को कैथोलिक शासकों की स्वेच्छाचारिता से मुक्त करना था। इसके विपरीत पोलीटिकोज राज्य में शान्ति और व्यवस्था को बनाये रखने के लिए मुद्द राजतंत्र और धार्मिक सहिष्णुता में विश्वास रखते थे।

मानव स्वभाव तथा प्राकृतिक अधिकार विषयक लॉक के विचारों स्पष्ट कीजिए।

उनकी मान्यता यह थी कि धर्म को राज्य संचालन से पृथक रखा जाना चाहिए तथा धर्मनिरपेक्ष आधार पर जन-कल्याणकारी कार्यों के अनुसार उसका संचालन किया जाना चाहिए। बोदां इसी मत का समर्थक था। अतः उसे धार्मिक सहिष्णुता के आधार पर यूरोप में विधिवत् रूप से सर्वप्रथम धर्मनिरपेक्ष राजनीतिक चिन्तन को प्रारम्भ करने का श्रेय प्राप्त है।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here