ब्रिटिश संविधान में राजा तथा राजमुकुट में अन्तर बताइये।

0
249

ब्रिटिश संविधान में राजा तथा राजमुकुट में निमन लिखित अन्तर है

1. सम्राट एक व्यक्ति है, ताज एक संस्था है

सम्राट तथा ताज में पहला मुख्य अन्तर यह है कि सम्राट एक व्यक्ति है। वह शासन का औपचारिक अध्यक्ष है। वह बंकिघम पैलेस में रहता है। समय आने पर उसकी मृत्यु हो जाती है। फिर उसके बाद उसका उत्तराधिकारी सम्राट बनता है। परन्तु ताज कोई व्यक्ति नहीं है। वह तो एक संस्था है। निरन्तर बने रहने वाला एक क्रम है।

2. सम्राट अस्थायी है, ताज स्थायी

सम्राट और ताज में एक अन्तर यह है कि सम्राट नश्वर है, अस्थायी है। एक बार सम्राट बन जाने के बाद यद्यपि वह सामान्यतः जीवनपर्यन्त सिंहासन पर बना रहता है किन्तु वह नश्वर है। मृत्यु उससे राजपद छीन लेती है। परन्तु दूसरी ओर ताज कभी नहीं मरता। सम्राट के मरने पर भी राजपद बना रहता है। वह स्थायी है, अनश्वर है। मुनरो ठीक ही कहते हैं “ताज कभी नहीं मरता।” इसलिये ब्रिटेन में एक सम्राट की मृत्यु पर कहा जाता है ‘सम्राट मर गया, सम्राट अमर रहें।’

3. सम्राट शक्तिहीन है, ताज शक्तिशाली

सम्राट और ताज में एक उल्लेखनीय है अन्तर यह है कि सम्राट तो केवल नाममात्र का शासक है। वास्तव में शासन सम्बन्धी कोई विशेष शक्ति उसके पास है ही नहीं दूसरी ओर ताज वास्तव में शक्तिशाली है। ब्रिटेन की समस्त कार्यपालिका व्यवस्थापिका और न्यायपालिका सम्बन्धी शक्तियों का पालन ताज द्वारा ही होता है।

सामाजिक स्तरीकरण क्या है?

4. सम्राट एक सत्य है, ताज एक कल्पना है

सम्राट तथा ताज में एक अन्य उल्लेखनीय अन्तर भी है कि सम्राट मनुष्य है। ये शरीरधारी व्यक्ति है, मूर्त है। इंग्लैण्ड के सामाजिक, राजनीतिक सांस्कृतिक जीवन में सम्म्राट भाग लेता है। दूसरी ओर ताज अमूर्त संस्था है। उसका न तो व्यक्तिगत और न ही संस्थागत कोई अलग से अस्तित्व है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here