Sociology Uncategorized

भारतीय समाज में परिवर्तन पर एक टिप्पणी लिखिए।

भारतीय समाज में परिवर्तन

हमारे भारतीय समाज में परिवर्तन की गति में तीव्रता स्वतंत्र होने के बाद से ही हो रही है क्योंकि देश के सर्वांगीण विकास के लिए सरकार ने नियोजित परिवर्तन की दिशा में आगे बढ़ने का निश्चय किया। संविधान में समानता, बन्धुत्व, स्वतंत्रता लाने के प्रावधान समाहित किए गए। प्रत्येक नागरिक को रोजगार, चुनाव एवं मतदान में भाग लेने का अधिकार दिया गया। जन्म, लिंग, जाति, धर्म, सम्प्रदाय के आधार पर सबको समान माना गया। शिक्षा के क्षेत्र में अनेक नए कदम उठाए गए। नगरीकरण, औद्योगीकरण, आधुनिकीकरण की प्रक्रिया तेज की गयी। पंचायत से संसद तक चुनाव के कारण राजनीतिक भागीदारी बढ़ो।

जनसंख्या विस्फोट क्या है ? जनसंख्या वृद्धि के प्रमुख कारण कौन हैं ?

भारत में सामाजिक परिवर्तन के लिए जनांकिकीय, आर्थिक, प्रौद्योगिकीय, सांस्कृतिक, कानूनी, प्रशासनिक और राजनीतिक कारकों की प्रमुख भूमिका है। नई सहस्राब्दि के बाद से भारतीय समाज में परिवर्तनों की गति और उसको उपलब्धिय सम्पूर्ण दिशा में चर्चित हो उठी है।

About the author

pppatel407@gmail.com

Leave a Comment