शिक्षा के पक्ष में समर्थन और सामाजिक गतिशीलता को बढ़ावा दीजिए। यूनीसेफ के इस कथन पर संक्षिप्त टिप्पणी लिखिए।

0
29

शिक्षा के पक्ष में समर्थन और सामाजिक गतिशीलता

लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए नीति बनाने वालों और नेताओं में जगरूकता पैदा करना तथा सारे समाज को गतिशील करने के लिए पक्ष समर्थन तैयार करना और सामाजिक संगठन बनाना एक और युक्ति है।

(1) व्यापक युक्तियों का विकास

संचार स्थापित करने वाली युक्तियों की बहुत-सी विशेषताएँ होनी चाहिए। इसका प्रमुख आधार लक्ष्य समूहों के स्वरूप, उनके व्यवहार और स्वभाव होने चाहिए। इन युक्तियों का ध्यान उनके दृष्टिकोण व्यवहार बदलने वाले संदेशों पर होना चाहिए। स्कूल कार्यक्रमों को समुदाय का समर्थन प्राप्त होना आवश्यक है यह तभी सम्भव होगा जब शिक्षा के सम्बन्ध में समुदाय की शंकाएँ दूर होंगी।

(2) सामाजिक गतिशीलता के लिए कार्य योजना तैयार कीजिए

शिक्षक, माता-पिता और समुदाय के नेताओं को सामाजिक गतिशीलता के लिए मिलकर काम करना चाहिए ताकि एक कार्य योजना विकसित की जा सके। इस योजनाओं के द्वारा ग्रामवासियों को विशेषकर अभिभावकों को यह विश्वास दिलाना जरूरी है कि लड़कियों को शिक्षा दिलाने से उन्हीं का लाभ होगा।

शिक्षा के उद्देश्यों की आवश्यकता लिखिए।

(3) पक्ष समर्थन और सामाजिक चेतना के लिए रेडियो

टेलीविजन आदि का प्रयोग करें अधिकाधिक लड़कियों को स्कूल भेजने के लिए समुदायों को चैतन्य करना चाहिए, इसके लिए सूचना व संचार की अलग-अलग प्रौद्योगिकी काम में लानी चाहिए। संचार साधनों में टी.वी. रेडियो, के साथ-साथ मेले, थियेटर, लोक थियेटर, स्वास्थ्य केन्द्र और पंचायत जैसे परम्परागत तरीके शामिल किए जा सकते है।

(4) सूचना प्रसार और शिक्षा के लिए पर्याप्त साधन नियत कीजिए

-सरकारी शिक्षा उपक्रमों की सफलता के लिए बहुत पहले से यह माना जाता रहा है कि शिक्षा कार्यक्रमों के लिए माता-पिता और समुदाय का समर्थन पाना बहुत आवश्यक है, लेकिन समर्थन प्राप्त करने का प्रयास बहुत कम सरकारों ने किया है।

किसी भी उपक्रम की तरह लड़कियों की शिक्षा के महत्व का प्रचार तभी सफल हो सकता है, जब उसे ऊपर से नीचे तक सभी का समर्थन प्राप्त हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here