विद्या और शिक्षा और शिक्षा और ज्ञान में अंतर बताइये।

विद्या एवं शिक्षा में प्रमुख अंतर निम्न हैं

  1. विद्या का सम्बन्ध इहलोक एवं परलोक दोनों के साथ होता है। जबकि शिक्षा का सम्बन्ध इहलोक से होता है।
  2. विद्या कौशल युक्त होती है जबकि शिक्षा कौशल रहित भी हो सकता है।
  3. एक व्यक्ति शिक्षा द्वारा स्थापित मानदंड को तोड़कर जब अपनी विवेक, समझ बूझ, अनुभव, योग्यता का उपयोग कर आगे आता है तो शिक्षा के उस स्तर को विद्या कहते हैं। जबकि शिक्षा एक स्थापित मानदंड है।
  4. विद्या आत्मिक उन्नति परमात्म चिंतन एवं जीवन को श्रेष्ठ एवं पवित्र बनाती है। जीवन में धार्मिकता, आधुनिकता, नैतिकता सदाचार, शिष्टाचार आदि की भावना जाग्रत करती है। जबकि शिक्षा अक्षर ज्ञान, पुस्तकीय ज्ञान, सूचना संग्रह, अच्छे अंक एवं डिग्रियों तक सीमित है। शिक्षा शारीरिक सुख भोगों तक सीमित है।
  5. विद्या अत्यन्त व्यापक शब्द है जिसमें सीखने-सिखाने के साथ ही कौशल, चातुर्य, अनुभव आदि का समावेशन आता है। जबकि शिक्षा बहुत सीमा तक सीखने-सिखाने शिक्षा और ज्ञान में अंतर बताइये।

शिक्षा की परिभाषा दीजिए। शिक्षा के सामाजिक उद्देश्य को लिखिए।

शिक्षा एवं ज्ञान में अंतर

  1. शिक्षा एक औपचारिक संस्था जैसे स्कूल, कॉलेज या विश्वविद्यालय से व्वयस्थित तरीके से सीखने की एक प्रक्रिया है जबकि ज्ञान अपने स्वयं के अनुभवों या सीखों के माध्यम से तथ्यों, सूचनाओं और कौशलों को प्राप्त करने की एक प्रक्रिया है।
  2. शिक्षा एक औपचारिक संस्थान जैसे स्कूल, कॉलेज और विश्वविद्यालय से हो प्राप्ति की जा सकती है। जबकि ज्ञान प्राप्त करने के स्थानों की कोई सीमा नहीं होती क्योंकि यह अनुभवों और वास्तविक जीवन स्थितियों से सीखा जाता है।
  3. शिक्षा में एक पूर्व निर्धारित पाठ्यक्रम व नियम आदि होते है जबकि ज्ञान प्राप्त करने के लिए कोई निर्देश, नियम या पाठ्यक्रम नहीं होता है।
  4. शिक्षा एक औपचारिक प्रक्रिया है जबकि ज्ञान अनौपचारिक अनुभव है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top