मानव संसाधन प्रबन्ध की विशेषताएँ लिखिए।

मानव संसाधन प्रबन्ध की प्रमुख विशेषताएं निम्नलिखित है

1. सामान्य प्रबन्ध का ही एक विशिष्ट अंग है

मानव संसाधन प्रबन्ध सामान्य प्रबन्ध का ही एक विशिष्ट अंग है, अतः मानव संसाधन प्रबन्ध में सामान्य प्रबन्ध की सभी विशेषताएँ पायी जाती है।

2. एक विशेष क्रिया

मानव संसाधन प्रबन्ध एक विशेष क्रिया है। आधुनिक व्यावसायिक संगठनों में इसे एक विशिष्ट कार्य माना जाता है। श्रम समस्याओं में जटिलता तथा श्रम सन्नियमों के निर्माण से औद्योगिक सम्बन्धों के कार्य में अब अति विशिष्टीकरण हो गया है। जिसका निर्वाड़ी एक बहमुखी प्रतिभा सम्पन्न मानव संसाधन प्रबंधक ही कर सकता है।

3. मानव शक्ति संसाधनों का विकास

मानव संसाधन प्रबन्ध के तहत् अनिवार्य रूप से उपक्रम में मानव शक्ति संसाधनों का प्रबंध किया जाता है, फलस्वरूप उपक्रम में लगे कर्मचारियों का आर्थिक एवं मानसिक विकास सम्भव होता है।

4. श्रम व पूँजी तथा श्रम व प्रबन्ध के मध्य मधुर सम्बन्धों

की स्थापना मानव संसाधन प्रबन्ध के तहत उपक्रम में कार्यरत उत्पादन के विभिन्न घटकों के मध्य मधु सम्बन्धों की स्थापना की जाती है जिससे श्रम व पूँजी तथा श्रम व प्रबन्ध के मध्य मधुर सम्बन्ध की ओर विशेष ध्यान दिया जाता है।

मानव संसाधन विकास का अर्थ और उसके लिए शिक्षा पर एक लेख लिखिए।

5.श्रमिकों का विकास करने से सम्बन्धित प्रयास

मानव संसाधन प्रबन्ध के द्वारा कर्मचारियों अथवा श्रमिकों का विकास करने से सम्बन्धित प्रयास किये जाते हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top